कहानी - वो बारिश

वो बारिश

आज आसमान में काले बादल छाए हुए है लगता है आज तेज बारिश होगी ये ही सोच में डूबी थी सोनम की तेज बारिश शुरु हो गई ।

आज सोनम घर में ही बैठ कर खिड़की से बाहर बारिश की देख रही है लगता था शायद बारिश से उसका पूरा नाता है आज वो बारिश देख कर खुश नहीं थी।

अनोखा विवाह

बारिश को देखते देखते वो अपने पुराने ख्यालों में खो जाती है और अपने पुराने दिन को याद करती है सोनम को बारिश बहुत पसंद थी।

जब भी बारिश होती तो बच्ची बन जाती और बारिश में जाकर नहाती और नाचती थी वो सब कुछ भुला कर बस बारिश का मज़ा लेती थी।

इसी बारिश ने ही सोनम को रोहित से मिलाया था जब वो बारिश में घर के बाहर एक बच्ची की तरह नाच रही थी रोहित ने जब सोनम को ये करते देखा तो वो उसके देखते ही रह गया।

रोहित एक कंपनी में जॉब पर था और वहीं पास में रहता था रोहित ने जब सोनम को देखा तो वो कहते है ना पहली नजर का प्यार वो हो गया था।

सोनम की भी नजर रोहित पर पड़ी तो वो थम सी गई और रोहित को देखने लगी और भाग कर घर में चली गई पर एक मुस्कान रोहित के लिए छोड़ कर चली गई।

वर्षो की तपस्या का फल

फिर तो जब भी रोहित ऑफिस जाता वो हमेशा उसके घर की तरफ देखता और सोनम भी अपनी छत से रोहित को देखती थी।

थोड़े दिनों बाद एक दिन रोहित को सोनम रास्ते में मिल गई और उसने बात करने की इच्छा जाहिर की पर सोनम इस तरह रास्ते में बात करना ठीक नहीं समझती थी। तो उसने मना कर दिया और घर की तरफ चल दी।

रोहित को ये बात समझ नहीं आती उसे लगा कि वो उससे बात नहीं करना चाहती इसलिए उसने बात नहीं की उस दिन के बाद रोहित जब भी ऑफिस जाता उसके घर की तरफ नहीं देखता और सीधा निकल जाता था।

पर सोनम के दिल में भी अब रोहित ने जगह बना ली थी और वो मयुश रहने लगी एक दिन वापस रोहित और सोनम बाहर मिले तो रोहित उसे नजरअंदाज करके जाने लगा ।

अच्छे संस्कार

पर इस बार सोनम ने उसे रोक लिया और एक कागज का टुकड़ा उसके हाथ में पकड़ा कर चली गई रोहित ने वो कागज का टुकड़ा खोल कर देखा तो उसने नंबर लिखे हुए थे।

रोहित ये देख मन ही मन बहुत खुश हुआ जब वो ऑफिस से घर आया तो उसके घर के सामने देख रहा था और सोनम छत पर खड़ी उसे कॉल करने का इशारा कर रही थी।

रात का समय था रोहित खाना खा कर अपने कमरे में गया और उस नंबर पर उसने कॉल किया एक ही रिंग गई थी कि आगे से फोन उठा लिया रोहित ने हैलो बोला पर कोई आवाज़ नहीं आती ।

पांखी एक बेटी की कहानी

रोहित ने 2से 3 बार हैलो बोला पर आवाज़ नहीं आती तो रोहित ने कहा आप कुछ बोलोगी या में फोन कट कर दू इतने में सोनम ने कहा नहीं नहीं अचानक रोहित की हसी छूट पड़ी और दोनों हसने लगे।

फिर दोनों की बाते शुरू हुई उस रात उन्होंने रात के 3 बजे तक बाते की फिर तो से सिलसिला चलता रहा रोज़ बाते करते और हसिमज़क करते थे।

दोनों एक दूसरे से प्यार करने लगा गए थे पर दोनों में एक दूसरे को बताने की हिम्मत नहीं थी रोहित ने सोनम को एक दिन कॉफीशोप में बुलाया तो सोनम ने हा कर दी।

दूसरे दिन वो दोनो कोफीशोप में मिले दोनों बैठे थे फोन पर इतनी बाते करने वाले आज एक दूसरे से अनजान बन कर बैठे थे दोनों में से एक भी पहले बात शुरू नहीं कर रहा थे।

चम्पा एक बेटी की दास्तां

तभी रोहित ने पूछा किया पियोगी चाय या कॉफी तो सोनम ने उसे चाय के लिए बोला इस तरह से बात शुरू हो। गई बातो ही बातो में रोहित ने सोनम को बोल दिया कि में तुमसे प्यार करता हूं और तुमसे शादी करना चाहता हूं।

सोनम ने ये सुनते ही मन ही मन खुश हों गई और सोनम ने भी कहा में भी तुमसे प्यार करती हूं इतने में बारिश भी शुरू हो गई और सोनम बारिश में भीगने लगी ये देख रोहित भी बहुत खुश था आज वो भी सोनम के साथ बारिश में भीग रहा था।

फिर कुछ देर बाद बारिश बन्द हों गई और वो अपने घर की तरफ निकल गए सोनम घर पहुंची और सीधा अपने कमरे में गई और और कपड़े बदल दिए और रोहित को फोन किया फिर से बाते शुरू हो गई ।

धीरे धीरे सोनम रोहित के प्यार में डूब गई थी वो  रोहित से बात किए बिना रह नहीं पाती थी  जैसा कहता वैसा ही करती थी।

बेटी हो तो ऐसी

एक दिन रोहित ने सोनम को बाहर घूमने के लिए कहा सोनम ने हा कर दी थोड़ी डर बाद रोहित आया सोनम तैयार ही बैठी थी वो दोनो निकल गए ।

इस बार रोहित ने एक होटल के सामने गाड़ी को रोका तो सोनम ने पूछा यहां क्यों रोकी तो रोहित ने कहा कि में तुम्हारे साथ अकेले में समय बिताना चाहता हूं इस भीड़ से दूर जहा हमे कोई डिस्टर्ब ना करे।

पहले तो सोनम ने मना किया और रोहित के ज्यादा कहने पैर वो मान गई फिर वो दोनो अंदर चले गए उन्होंने होटल में कमरा बुक करवाया और अपने कमरे में चले गए।


सोनम को मन ही मन डर सता रहा था और वो बिस्तर पर बैठी हुई थी रोहित भी उसके पास आकर बैठ गया सोनम और घबरा गई थी और कुछ बोल नहीं रही थी ।

एक लड़की सांवली

रोहित समझ गया था कि सोनम अंदर  ही अंदर घबरा रही है तो उसने बाते शुरू की इससे उसका डर कम हो रोहित 
 समझ गया था कि उसका डर नहीं मिटने वाला तो रोहित ने सोनम से कहा तुम मेरी इज्जत हो और मेरी इज्जत पर कभी आंच नहीं आएगी जब तक शादी नहीं होगी तब तक ऐशा कुछ नहीं होगा।

सोनम ये बात सुन कर उसकी आंखो में आंसू आ जाते है और जिससे वो इतनी देर से डर रही थी वो उससे प्यार करने वाला था और वो भी सच्चा प्यार रोहित ने आगे कहा कि जहा तुम खुश नहीं रह सकती वो जगह मेरे लिए भी अच्छी नहीं है और हर प्यार करने वाला जिस्म का भूखा नहीं होता है।

रोहित ने इतना कह कर सोनम के हाथ को पकड़ कर कमरे से बाहर की तरफ ले आया और वापस अपने घर की तरफ आ गए अब सोनम को रोहित पर पूरा भरोसा हो गया था।

कुछ दिनों बाद सोनम और रोहित ने एक मंदिर में जाकर शादी कर ली और दोनों बहुत खुश थे। उस दिन भी बारिश हुई और सोनम और रोहित बारिश में बहुत भीगे।

स्नेहा एक किन्नर

सोनम और रोहित की जिंदगी बहुत खुशनुमा थी पर इन दोनों के प्यार का पता नहीं किसकी नजर लग गई। वो मनहूश रात तेज बारिश हो रही थी।

रोहित अपने ऑफिस से लौट रहा था कि अचानक एक ट्रक ड्राइवर जो शराब के नशे में था उसने रोहित को ट्रैक से टक्कर मार दी रोहित की मौके पर। हि मौत हो गई ।

सोनम रोहित का इंतजार कर रही थी उसे पता नहीं था कि जिसका वो इंतजार कर रही थी वो अब कभी नहीं आएगा अचानक फोन की घंटी बजती है और पुलिस कहती है आपके पति रोहित का एक्सिडेंट हो गया है।

और उनकी मौके पर। ही मौत हो गई  ये सुनते ही सोनम कि पैरो तले जमीन खिचक गई और वो जोर जोर से रोने लगी । सोनम के खुशियों के पल एक क्षण में ही ख़तम हो गए।

हवस वाला प्यार

सोनम जो एक हसमुख लड़की थी वो आज बेजान हो गई थी आज भी बारिश होती है तो उसे रोहित कि याद आती है ।

तो दोस्तो आज की कहानी अपको किसी लगी अगर अच्छी लगी तो एक कमेंट और शेयर जरुर करे।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां